दिल्ली दंगा- एक साल बाद, चार्जशीट, क्रोनोलॉजी, साज़िश, गिरफ़्तार छात्र नेता और कार्यकर्ता

Total Views : 314
Zoom In Zoom Out Read Later Print

दिल्ली दंगा- एक साल बाद, चार्जशीट, क्रोनोलॉजी, साज़िश, गिरफ़्तार छात्र नेता और कार्यकर्ता

दिल्ली दंगा- एक साल बाद, चार्जशीट, क्रोनोलॉजी, साज़िश, गिरफ़्तार छात्र नेता और कार्यकर्ता

दिल्ली के उत्तर-पूर्वी इलाके में सीएए के खिलाफ़ शुरू हुए प्रदर्शनों का अंत दंगों की शक़्ल में हुआ. 23 फ़रवरी से 26 फ़रवरी 2020 के बीच हुए दंगों में 53 लोगों की मौत हो गई. 13 जुलाई को हाईकोर्ट में दायर दिल्ली पुलिस के हलफ़नामे के मुताबिक, मारे गए लोगों में से 40 मुसलमान और 13 हिंदू थे.


दिल्ली पुलिस ने दंगों से जुड़ी कुल 751 एफ़आईआर दर्ज की. पुलिस ने दिल्ली दंगों से जुड़े दस्तावेज़ों को सार्वजनिक करने से इनकार कर दिया था.


पुलिस का तर्क है कि कई जानकारियां 'संवेदनशील' हैं इसलिए उन्हें वेबसाइट पर अपलोड नहीं किया जा सकता है. दिल्ली पुलिस ने सीपीआई (एम) की नेता वृंदा करात की हाईकोर्ट में दायर याचिका के जवाब में 16 जून को ये बात कही थी.


ऐसे में उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हुए दंगों की जांच से जुड़ी जानकारियां जुटाना एक चुनौती रही है लेकिन बीबीसी ने जांच से जुड़े कोर्ट के ऑर्डर और एफ़आईआर-चार्जशीट जैसे दस्तावेज़ जुटाकर जाँच के तौर-तरीकों को समझने कोशिश की है.


See More

Latest Photos